SHARE

Facts About Jupiter

बृहस्पति हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है | यह ग्रह इतना बड़ा की इस ब्रह्माण्ड में 1,000 के करीब पृथ्वी समा सकती है | बृहस्पति ग्रह का मास तक़रीबन 1.898 × 10^27 kg है | तो आइए जानते है बृहस्पति ग्रह की शानदार बातें | ( Facts About Jupiter )

 

1610 में गैलीलियो ने सबसे पहले बृहस्पति ग्रह और इसके 4 उपग्रह यूरोपा, लो, कैलिस्टो, गैनीमेडे, की भी खोज करी थी | गैलीलियो की इसी खोज के कारण कॉपरनिकस को ये साबित करने में मदद मिली थी की पृथ्वी व अन्य ग्रह सूरज के चकर लगाते है न की सूरज पृथ्वी व अन्य ग्रहों का | इस ग्रह पर हर समय कई बड़े बड़े तूफान चलते रहते है | इसके वातावरण और चुंबकीय क्षेत्र का सटीक हिसाब आज तक नहीं लगाया जा सका है | बृहस्पति ग्रहों पर पूरा एक दिन बीतने में 9 घंटे 55 मिनट का समय लगता है | हमारे सौर मंडल में 4 ऐसे ग्रह है जो पूर्णतः गैस से बने हुए है जिनमें से एक है बृहस्पति |

facts about j

यह भी पढे:-लॉक डाउन के बाद लांच होने वाले 5 धमाकेदार स्मार्टफोन्स

 

बृहस्पति पर हर समय कई बड़े तूफ़ान आते है जिनमे से सबसे ख़तरनाक तूफान इसके ग्रह के निचले स्तर पर चल रहा है | इस तूफान का आकार इतना बड़ा है की इसमें आसानी से 2 पृथ्वी समा सकती है | वैज्ञानिकों के मुताबिक़ ये तूफान यहाँ पर तकरीबन पिछले 360 सालों से चल रहा है | अभी तक बृहस्पति के अंदर मौजूद बादलों के बारे में वैज्ञानिकों को कुछ ख़ास जानकारी नहीं मिल पाई है | लेकिन अभी तक की मिली जानकारी के मुताबिक़ जब वॉयजर 1 बृहस्पति ग्रह के नज़दीक से गुज़र रहा था तब उसे वहा पर बिजली के कड़कने की आवाज़ सुनाई दी थी जिससे वैज्ञानिको ने ये अंदाज़ा लगाया की हो सकता है की बृहस्पति के वायुमंडल में हाइड्रोजन गैस के साथ मीथेन गैस भी मौजूद हो जिसकी वजह से उसके वायुमंडल में एक अलग रासायनिक प्रक्रिया हुई हो | इस रासायनिक प्रक्रिया  से हीरो का भी जन्म हो सकता है | 

facts about jupiter

बृहस्पति हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है जिसकी वजह से इसका चुंबकीय क्षेत्र भी काफी बड़ा इतना चुंबकीय क्षेत्र हमारी धरती के मुकाबले 2,000 गुना ज्यादा है | अगर किसी वस्तु का वज़न धरती पर 100 किलो हुआ तो उसी चीज का वजन बृहस्पति पर 240 किलो का होगा | बृहस्पति के चुंबकीय क्षेत्र के कारण बृहस्पति कई सरे उल्कापिंडो को अपनी तरफ़ खींच लेता अगर यह ऐसा न करे तो हमारी धरती पर इन सभी उल्कापिंडो के गिरने की संभावना काफी ज्यादा बाद जाएगी और शायद हम इंसानों का इस धरती से अस्तित्व भी ख़त्म ही हो जाए | बृहस्पति हमारी धरती को पिछले करोड़ो सालों से बचाता आ रहा है और शायद ऐसा करेगा | 

यह भी पढे:-दुनिया के 5 सबसे कमजोर देश | Top Weakest Countries

साथ ही वैज्ञानिकों को इस बात की भी संभावना है की बृहस्पति के चंद्रमा यूरोपा पर जीवन हो सकता है क्योंकि यूरोपा की एक तस्वीर में वहां पर पानी के फवारे देखे गए थे | वैज्ञानिको के अनुमान के मुताबिक़ यूरोपा की सतह के 10 किलो मीटर नीचे भारी मात्रा में पानी मौजूद हो सकता है जहाँ पर कुछ समुद्री जीव भी मौजूद हो सकते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here