SHARE

ईद 2020

taj eid

ईद अल-फितर दुनिया भर में 1.8 बिलियन मुसलमानों द्वारा मनाया जाने वाला सबसे बड़ा और प्रमुख इस्लामी त्योहार है। ईद का दिन इस्लामिक महीने शव्वाल के पहले दिन में आता है और यह रोजे यानि कि उपवास के इस्लामी पवित्र महीने रमजान के अंत का भी प्रतीक है। यह त्यौहार मुस्लिम कैलेंडर में सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक है। अन्य त्योहारों की तरह, ईद अल-फितर समारोह में सुंदर परंपराएं शामिल हैं, जिसमें पुराने दोस्तों और रिश्तेदारों का जमावड़ा, प्रार्थना और एक साथ दावत देना और साथ ही ईद के तोहफे (या ईदी) के साथ शुभकामनाएं देना शामिल है।

भारत में ईद उल-फ़ित्र 2020 शनिवार, 23 मई होगी

असाधारण परंपराओं और उत्सव के अलावा, उत्सव में कुछ दिलचस्प तथ्य भी होते हैं जिन्हें आप नहीं जानते होंगे। जानने के लिए उत्साहित हैं कि वे क्या हैं? इस पवित्र त्योहार के बारे में रोचक तथ्यों के बारे में आयिए देखते है।

Jama Masjid

 

White House में पहला ईद अल-फितर की दावत

हिलेरी क्लिंटन ने 1996 में व्हाइट हाउस में पहली ईद अल-फितर की मेजबानी की। बाद में, क्लिंटन ने इस खूबसूरत परंपरा को हर साल जारी रखा। रात्रिभोज(Dinner) में मुस्लिम अमेरिकी समुदाय के प्रमुख सदस्य शामिल थे, जिनमें राजनेता, नेता और छात्र भी शामिल थे। समय बीतने के साथ, हर राष्ट्रपति के साथ ईद अल-फितर रात के खाने की दावत की परंपरा भी जारी रही। जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा ने अपने राष्ट्रपति पद के हर साल ईद के रात्रिभोज की मेजबानी की।

white house

 

अलग अलग देशों में अलग अलग नाम

इससे कोई फर्क़ नही पडता है कि इस त्योहार के और क्या नाम है, हर मुस्लिम व्यक्ति की भावना हमेशा  इस त्योहार को लेकर एक जैसी ही रह्ती है। लेकिन फिर भी, यदि आप इस बात को जानना चाहते हैं कि दूसरे देशों के लोग इस अवसर की शुभकामनाएं देते हुए क्या कहते हैं, तो पढ़ते रहें। ईद अल-फितर को अजरबैजान में “रमजान बैरामी(Ramazan Bairami)”, इंडोनेशिया में “लेबरन(Lebaran)”, सेनेगल में “कोरीट(Korite)”, मलेशिया में “हरि राया पाउसा(Hari Raya Puasa)” के नाम से जाना जाता है।

यह भी पढे:- Extinct Species of Animals in Hindi

सार्वजनिक अवकाश(Public Holiday)

मुस्लिम देशों में, ईद एक आधिकारिक सार्वजनिक अवकाश(Official Public Holiday) है जो तीन दिनों तक रहता है। तो, अगर आप इस शुभ त्योहार को बड़े उत्साह के साथ मनाने के मूड में हैं, तो आपके पास ऐसा करने के लिए सबसे अच्छा तीन दिन हैं। अपने रिश्तेदारों, दोस्तों और परिवार के साथ इस त्योहार का जश्न मनाएं और एक खुशहाल जिंदगी के लिए अल्लाह को धन्यवाद कहें। और अगर कोई मुस्लिम देश मे नही है तब भी आप को एक दिन की अपने काम से इस खुशहाल त्योहार को मनाने के लिये छुट्टी तो मिलेगा ही।

मक्का

यह भी पढे:- इरफ़ान खान- विदेशों में थे भारत की शान अब नहीं रहे इरफ़ान खान

तीन दिवसीय मुस्लिम महोत्सव

यह त्यौहार तीन दिनों तक बड़े मज़े और उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस त्योहार में तीन दिन का उत्सव होता है जिसमें प्रार्थना, दावत, पारिवारिक समारोहों, उपहारों का आदान-प्रदान और जरूरतमंदों की मदद करना शामिल है, लेकिन कुछ जगहो पर इसे 4 से 10 दिनो तक भी मनाया जाता है।

 

अगर आप भारत से है तो आप से गुजारिश है कि इस बार ईद मे आप खरीददारी ना करे और अगर हो सके तो उन पैसो से किसी गरीब की मदद करे और सरकार के हर नियम जैसे कि सोशल डिस्टेनसिंग का पालन करे और ईद की नमाज घर मे ही अदा करे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here