25 Neptune Facts in Hindi | वरुण ग्रह के रोचक और मजेदार तथ्य

2
146

अरुण ग्रह से जुड़े कुछ रोचक और मजेदार तथ्य / Neptune Facts

 

आज हम जानेंगे वरुण ग्रह के कुछ मजेदार तथ्य और जानेंगे आखिर क्यों हमारे 7 गृह अरुण(Uranus) के खोजने के 50 साल बाद इस ग्रह को खोजा गया|
व्यास(Diameter): 49,528km
ध्रुवीय व्यास(Polar Diameter): 48,682km
द्रव्यमान(Mass): 1.02 × 10 ^ 26 kg
कक्षा दूरी(Orbit Distance): 4,498,396,441 km (30.10 AU)
सतह का तापमान(Surface temperature): -201°C
डिस्कवरी की तारीख: 23 सितंबर 1846
द्वारा खोजे गए: अर्बेन ले वेरियर( Urbain Le Verrier), जोहान गैले( Johann Galle ), जॉन काउच एडम्स(John Couch Adams)

रोचक तथ्य / Facts about Neptune

Interesting facts about planet Neptune in Hindi / अरुण ग्रह के रोचक तथ्य

1) वरुण ग्रह हमारे सौरमंडल का सबसे दूर स्थित आखरी ग्रह है जिसको सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में  60,190.03 पृथ्वी दिन (164.79 पृथ्वी साल) लग जाते हैं|
2) खगोल वैज्ञानिकों की दुनिया में सबसे बड़े वैज्ञानिक गैलीलियो गैलीली ने अपने चित्र में अरुण ग्रह को दर्शाया था लेकिन इन्होंने अरुण ग्रह को एक ग्रह ना समझ कर बल्कि एक तारा बताया था|
इस वजह से गैलीलियो गैलीली को अरुण ग्रह के खोजने का ना सम्मान मिला और ना ही नाम|
3) Neptune एकलौता ऐसा ग्रह है जिसको गणितीय गणना(Calculation) की मदद से खोजा गया था से खोजा गया था|
4) अरुण ग्रह का अध्ययन करते समय 3 खगोल वैज्ञानिकों ने बताया कि अंतरिक्ष में अरुण के बाद कोई दूसरा ग्रह भी हो सकता है क्योंकि अरुण ग्रह को कोई दूसरी चीज डिस्टर्ब कर रही है|
5) 1843 मैं जॉन काउच एडम्स ने बताया कि अरुण ग्रह के कक्ष में कोई बड़ी अंतरिक्ष वस्तु बाधा डाल रही है|
इन्होंने जिस जगह ग्रह होने का अनुमान लगाया था उसके 12° के दायरे में अरुण ग्रह को पाया गया|
6) 1845 मैं अर्बेन ले वेरियर( Urbain Le Verrier) ने भी एक और ग्रह होने का अनुमान लगाया अनुमान लगाया होने का अनुमान लगाया था|
इन्होंने जिस जगह नए ग्रह होने का अनुमान लगाया था उससे ठीक की डायरी में हमें अरुण ग्रह मिला|
7) अरुण ग्रह के वायुमंडल में 74% Hydrogen, 25% Helium और लगभग 1% Methane है|
8) मिथेन(Methane) लाल रंग को अपने अंदर सोख लेता है यही कारण है कि अरुण ग्रह हमें इतना नीला दिखाई पड़ता है|
9) अरुण ग्रह सूरज से 4.5 Billion km की दूरी पर है|
10) हमारे सौरमंडल में नापी गई अब तक की सबसे तेज हवा की रफ्तार वरुण ग्रह पर पाई गई है जोकि है 2,000km/h.
11) अब तक का सबसे बड़ा तूफान भी इसी ग्रह पर देखा गया है जिसका नाम दिया गया “द ग्रेट डार्क स्पॉट” The Great Dark spot.
12) The Great Dark spot( द ग्रेट डार्क स्पॉट) बृहस्पति(Jupiter) ग्रह के “द ग्रेट रेड स्पॉट” The Great Red spot से ही बड़ा था|
13) द ग्रेट डार्क स्पॉट तूफान इतना बड़ा था कि इसमें हमारी पृथ्वी समा सकती थी, इस तूफान में हवा की रफ्तार 2,415km/h थी|

               13-25

14) या तूफान 5 साल तक चला और उसके बाद अपने आप गायब हो गया|
15) अरुण ग्रह के 14 उपग्रह(Moon) हैं|
अरुण ग्रह की 14 उपग्रहों की 14 उपग्रहों 14 उपग्रहों का नाम / Neptune Moon name list.
1) नायड
2) थलासा
3) डेस्पिना
4) गलाटिया
5) लारिसा
6) S / 2004 N 1 105
7) प्रोटीन
8) ट्राइटन
9) नेरीड
10) हालिमेडे
11) साओ
12) लोमेदिया
13) Psamathe
14) NESO
 16)  ट्राइटन(Triton) अरुण ग्रह का सबसे बड़ा उपग्रह है जिसका व्यास व्यास(Diameter)- 2,705km.
Orbital period- 5day’s 21hur.
17) ट्राइटन(Triton) हमारे सौरमंडल का सबसे ठंडा वस्तु है जिसका तापमान -240°C है|
18) अरुण ग्रह के उपग्रह ट्राइटन के बारे में यह भी कहा जाता है कि ट्राइटन पहले एक ग्रह रहा होगा लेकिन वरुण ग्रह के गुरुत्वाकर्षण की वजह से यह वरुण ग्रह की कक्षा में आ गया|
19) ट्राइटन उपग्रह के बारे में इतनी बातें इसलिए होती है क्योंकि यह अरुण ग्रह की बाकी उपग्रहों मैं टेढ़ा-मेढ़ा है, अरुण ग्रह के सारे उपग्रह आकार में थोड़े बड़े और छोटे है लेकिन ट्राइटन ही ऐसा उपग्रह है जो कि एक गोलाकार आकार में है और अरुण ग्रह के बाकी उपग्रहों से काफी बढ़ा भी है|
20) Neptune का नाम रोमन की समुद्र के देवता पर रखा गया है और हिंदू कथाओं के हिसाब से  अरुण ग्रह का नाम अरुण देवता पर रखा गया है|
21) कुछ ग्रहों की तरह Neptune के भी बाहरी वायुमंडल में 5 छल्ले हैं|
पांच छल्लो के नाम है,
1) Le
2) Verrier
3) Lasse ||
4) Arago
5) Adams
22) Neptune का चुंबकीय क्षेत्र(Magnetic field) हमारी पृथ्वी के मुकाबले 27 गुना ज्यादा है|
23) Neptune पर स्मॉल डार्क स्पॉट(Small Dark Spot ) नाम एक तूफान है|
24) Neptune का सबसे बड़ा उपग्रह ट्राइटन को Neptune के खोज से ठीक 14 दिन बाद ही खोज लिया गया था|
25) 1989 मैं वायेजर(Voyager)- 2 इकलौता स्पीच मिशन जिसको Neptune ग्रह की परिक्रमा करने के लिए भेजा गया था|
26) वायेजर-2 से हमें बहुत जानकारियों का पता चला जैसे की Neptune के छल्ले
Neptune के छालों को पृथ्वी से देख पाना लगभग नामुमकिन है इसी वजह से बहुत से खगोल वैज्ञानिक Neptune के छल्लो को अधूरा मानते थे |

 

Related posts

ग्रहों के रोचक तथ्य / Planet facts in Hindi

1) Mercury( बुध ग्रह ) Facts
2) Venus( शुक्र ग्रह ) Facts
3) Mars( मंगल ग्रह) Facts
4) Jupiter( बृहस्पति ग्रह ) Facts
5) Saturn( शनि ग्रह ) Facts
Saturn Moon Titan( टाइटन ) Facts
6) Uranus( अरुण ग्रह ) Facts

बौने ग्रह के तथ्य / Dwarf planet Facts

1) Pluto facts
2) Haumea facts
3) Makemake facts
4) Eris facts
5) Ceres facts
Earth Moon facts in Hindi

Galileo Galilei facts in Hindi

Nicolaus Copernicus facts in Hindi

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here