Chandrayaan-2 Mission Update in Hindi

0

Chandrayaan-2 इस दिन चांद पर पहुंचेगा

Chandrayaan-2 mission update in Hindi

वैसे तो Chandrayaan-2 मिशन 15 जुलाई 2019 को लॉन्च किया जाने वाला था लेकिन कुछ तकनीकी खराबी की वजह से इस मिशन को 22 जुलाई 2019 को लांच किया गया और मिशन सफलतापूर्वक 22 जुलाई को लॉन्च कर दिया गया।
ISRO का यह चांद पर दूसरा मिशन है, Chandrayaan-1 सफलतापूर्वक करने के बाद ISRO अब Chandrayaan-2 को भी सफलतापूर्वक करने की उम्मीद कर रही है और हम आपको बता दें भारत पहला ऐसा देश है जिसमें ऐसा देश है जिसने चांद पर पहले बारी में सफलतापूर्वक मिशन को अंजाम दिया है और चांद ही नहीं इसरो ने मंगल (Mars) को भी पहली बार में सफलतापूर्वक मिशन कंप्लीट किया था।

इस अपडेट की 3 खास बातें

1- कहां पहुंचा है ISRO Chandrayaan -2 मिशन
2- क्यों है इतना खास यह मिशन हम भारतीयों के लिए
3- NASA और ESA जैसी बड़ी स्पेस रिसर्च एजेंसियों का Chandrayaan-2 मिशन पर क्या रिएक्शन रहा।

Update Chandrayaan-2

 

#Chandrayaan2 Today after performing the third orbit raising maneuver, we are now 3 steps closer to the moon !!!#ISRO pic.twitter.com/M8iqxwZgZr

— ISRO (@isro) July 29, 2019

इसरो ने अपने ट्विटर हैंडल पर 29 जुलाई को  ट्वीट किया और बोला हम 3 कदम दूर हैं चांद पर लैंड करने के लिए।
मिशन Chandrayaan-2 को पृथ्वी का 5 बार चक्कर लगाना था जिसमें से उसने 3 बार चक्कर 29 जुलाई को लगा लिए है।
7 September 2019 को हम चांद पर उतरेंगे।
यह मिशन चांद पर पहुंचने के बाद यह तीन काम करेगा

Lunar Topography:

इसकी मदद से Chandrayaan -2 मोर का 3D मैप तैयार करेगा जिससे वहां के स्ट्रक्चर को समझने में आसानी मिलेगी।

Lunar Exosphere:

चांद के पतले वायुमंडल की पढ़ाई करेगा यह यंत्र।

Moon Mineralogy:

यह यंत्र चांद की खनिज पदार्थो की छानबीन करेगा और जानकारी इकट्ठा करके पृथ्वी पर भेजेगा।

 

क्यों खास है यह मिशन हम भारतीयों के लिए

भारत जैसे डेवलपमेंट देश में ISRO ने जो काम करके दिखाया है वह बड़ी से बड़ी स्पेस एजेंसी भी नहीं कर सकी है अभी तक यह बात और यह मिशन हम भारतीयों का नाम ऊंचा कर देगा पूरी दुनिया में।
इस मिशन की सबसे खास और बड़ी बात यह है कि इस मिशन को बनाने में कुल खर्च 978 करोड़ आया है। 603 करोड़ प्रोजेक्ट को बनाने में खोर 375 करोड़ मिसाइल GSLV Mk|||-M1 को लॉन्च करने में आया था|
इसका अंदाजा आप इस तरह से लगा सकते हैं की Statue of Unity को बनाने के लिए 3,000 करोड़ रुपए लगे और Avengers-End Game को बनाने के लिए 2,450 करोड़ रुपए लगे थे|

आइए जानते हैं बड़ी-बड़ी स्पेस एजेंसी ने भारत की इस कामयाबी पर क्या कहा-

NASA

 

NASA ने अपने ट्विटर हैंडल पर यह ट्वीट करके भारत को Chandrayaan-2 की बधाई दी।
ESA

ESA ने भी ISRO को बधाई दी और सफलतापूर्वक मिशन कंपलीट करने की उम्मीद की।
आपको यह पोस्ट कैसी लगी और आप अगली पोस्ट किस topic पर चाहते हैं हमें comment करके ज़रूर बताए। ऐसी ही informative post पढ़ने के लिए Notification Bell को allow कर दीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here