Generation ship in Hindi | जनरेशन शिप क्या है

2

जनरेशन शिप(Generation ship) क्या है |

जनरेशन शिप को अगर आसान भाषा में समझा जाए तो यह एक ऐसी शिप है जो अंतरिक्ष में सालों साल घूमती रहेगी|

Generation ship क्या है, क्या यह पृथ्वी के खत्म होने के बाद हमारा दूसरा घर होगा

 

जैसे इसके नाम से ही पता चलता है Generation यानी कि यह शिप एक बार स्टार्ट होने के बाद कभी नहीं रुकेगी और इसमें लगभग 200 लोग रहेंगे, जो अपनी पूरी जिंदगी इसी शिप में काटेंगे|
राबर्ट एच गोडार्ड, रॉकेट अग्रणी, एक बहुत बड़े एरो क्राफ्ट इंजीनियर थे इन्होंने सबसे पहले 1918 में इसकी चर्चा की थी उन्होंने बताया कि सूरज और पृथ्वी हमेशा के लिए नहीं रहेंगे तो इसलिए हमें इसकी तैयारी करनी होगी|
अब तो आपको आईडीया अलग ही गया होगा आखिर जनरेशन शिप क्या है।
Generation ship के बारे में 1926 में पूरी डिटेल के साथ इसको पब्लिक के सामने लाया गया और उस समय आप इस साइंस फिक्शन जैसी चीज को मूवी और किताबों में भी देख सकते थे|
1926 से ही यह चर्चा में आ गई और फिर साइंटिस्ट, रिसर्च, इंजीनियर और मूवी मेकर भी मिलकर इस प्रोजेक्ट की तैयारी करने लगे|
कोन्स्टेंटिन ई ट्स्योलोव्स्की, फादर ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स थ्योरी, 1928 इन्होंने भी जनरेशन शिप की तारीफ की और इन्होंने कहा यह हमारे भविष्य के लिए सबसे इंपॉर्टेंट चीज है हम इंसानों को बचाए रखने के लिए|

कैसे काम करता है यह Generation ship

Avery thing about generation ship in Hindi
Credit-www.artstation.com
अब आप जानेंगे जनरेशन शिप क्या है और क्यों है कैसे काम करता है|
इस शिप के अंदर लगभग 200 लोग रह सकेंगे, जैसा कि हमने बताया इसमें रहने वाला व्यक्ति अपनी पूरी उमर इसी में बिताएगा और उसके बच्चे भी इसी में रहेंगे|
हम बात कर रहे हैं जनरेशन की तो लोगों का मरना भी तय है तो इसलिए उस शिप में बॉडी रखने के लिए भी जगह बनाई गई है|

क्या-क्या  होगा इस Generation ship के अंदर

Credit-

Credit- Reddit.com
इस शेप के अंदर 200 लोग तो होंगे ही और उनके लिए खाने पीने का सामान भी होगा साथ ही उस शिप के अंदर खेती भी होगी|
यह शिप इतनी बड़ी होगी कि इसके अंदर पेड़, पौधे, स्कूल, खेलने के लिए जगह, गार्डन, कई सारे मकान और अलग से बड़ा सा रिसर्च सेंटर भी होगा|
जब इसमें लोगों की तादात और बढ़ेगी तो इसका उपाय भी है अंतरिक्ष में रहते रहते एक और लिविंग साइकिल बनाना|
लिविंग साइकिल जिसमें लोग रहेंगे यह गोलाकार आकार में 7 ब्लॉक में बनेंगे|
तो हमें यह भी चिंता करने की जरूरत नहीं होगी कि अगर पापुलेशन बढ़ी या फिर सामान बढ़ा तो उसको कहां रखा जाएगा|
इस अंतरिक्ष यान को आत्मनिर्भर रहने के हिसाब से बनाया जाएगा, हम सिर्फ पृथ्वी से डाटा भेजेंगे और लेंगे|

कैसे चलेगी यह generation ship

इतने सालों के लिए फ्यूल इकट्ठा करके रखना इंपॉसिबल है इसलिए स्टार्टिंग के लिए तो धरती से ही फ्यूल लिया जाएगा लेकिन जब धरती से लिया गया फ्यूल खत्म होगा तब इलेक्ट्रोमैग्नेटिक की मदद से अंतरिक्ष में फ्यूजन फ्यूल क्रिएट किया जाएगा, ऐसे चलेगी सालों साल तक जेनरेशन शिप|
यह Generation ship ऐसा बनाया जाएगा कि यह लाइट की स्पीड से चल सके|
आप इसके  बारे में क्या सोचते हैं और क्या आप इसमें जाना चाहते हैं हमें कमेंट करके जरूर बताएं|
यह भी पढ़ें- इस गुजराती इंसान ने कचरे से बनाई ईट, इंडिया का रियल हीरो

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here