इंडिया में बढ़ते हुए पानी के क्राइसिस को कैसे रोका जा सकता है ?

0

इंडिया में बढ़ते हुए पानी के क्राइसिस को कैसे रोका जा सकता है ?

रिसर्च की मानें तो 2020 तक 19 शहरों के पास पानी नहीं रहेगा और अगर इस आंकड़े को थोड़ा बढ़ाकर 2030 तक करें तो आधे से ज्यादा भारत के हिस्सों में पानी खत्म हो चुका होगा|

Water crisis in India how to solve and fixed this problem
Credit- Mediaindia.eu

आज हम लोग न्यूज़ में देख ही रहे होंगे पानी की कैसी मारामारी चल रही है बिहार और दिल्ली जैसे बड़े शहर में पीने को पानी नहीं है यहां पर लोग प्यासे मर रहे हैं|

क्यों बढ़ रहा है इतनी तेजी से हमारे देश में पानी का क्राइसिस

हर साल बारिश कम हो रही है इस साल पिछले साल के मुताबिक 96% ही बारिश होगी इसका मतलब है पिछले साल से भी कम इस साल बारिश होगी अगर ऐसा ही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब पानी का क्राइसिस इतना बढ़ जाएगा कि लोग पानी के लिए युद्ध करेंगे|

इसका दूसरा भी कारण है जो कि हम इतना ज्यादा मात्रा में पानी इस्तेमाल करते हैं कि इसका कोई हिसाब नहीं और इस्तेमाल ही नहीं बल्कि अधिक मात्रा में पानी का दुरुपयोग भी करते हैं|

हम जंगलों को काट के बिल्डिंग बना रहे हैं लेकिन यह भूल गए हमें जीवन देने वाले यह पेड़ हमारे लिए किसी स्मार्ट सिटी से ज्यादा इंपोर्टेंट है हम जंगल तो काट रहे हैं और जो हमारे आसपास के पेड़ हैं उनको भी हम नुकसान पहुंचा रहे हैं|

इंसान इतनी तेजी से आगे बढ़ रहा है की जिसका कोई जवाब नहीं लेकिन पीछे इतनी बुराइयां छोड़ रहा है जिसको कोई सवाल भी नहीं कर सकता और इसके चलते क्लाइमेट चेंज इतनी तेजी से बढ़ रहा है कि हमें अपनी प्रगति को छोड़कर क्लाइमेट को बचाने पर आ जाना चाहिए|

एक आधा लीटर की कोल्ड ड्रिंक को बनाने के लिए 40 लीटर पानी वेस्ट होता है!

कैसे रोका जा सकता है इस पानी के क्राइसिस को

हमें जितना ज्यादा हो सके अपनी एडवांसमेंट का ख्याल रखना चाहिए और जितना ज्यादा हो सके पेड़ों की रक्षा करनी चाहिए और नए पेड़ उगाने चाहिए|

कुछ छोटी-छोटी चीजें जो हम अपने घर में कर सकते हैं जिससे पानी की क्राइसिस काफी कम हो सकती है:-

1) वाशिंग मशीन के पानी का दोबारा इस्तेमाल

Water crisis in India 2019
Credit- Depositphotos.com

सबसे ज्यादा अगर पानी की बर्बादी कहीं होती है तो वह कपड़े धोने में होती है जिसका हम दोबारा कहीं पर इस्तेमाल भी नहीं करते हैं आजकल वॉशिंग मशीन में हम कपड़े धोते हैं जिससे पानी और ज्यादा मात्रा में वेस्ट होता है|

अगर आप इस पानी को पेड़ों में डाल दें तो इसका इस्तेमाल भी हो जाएगा हां इस बात का ध्यान रखें कि आप अपने कपड़े धोने के लिए हार्मफुल केमिकल वाले डिटर्जन का इस्तेमाल नहीं करते हों|

2) एसी का पानी

इंडिया में बढ़ते हुए पानी के क्राइसिस को कैसे रोका जा सकते हैं
Credit- GreenProphet.com

आपके ऐसी से निकला हुआ पानी गंदा नहीं होता उसको भले आप पी ना सकें लेकिन बहुत से कामों में इस्तेमाल कर सकते हैं,एसी का पानी ठंडा होने के साथ-साथ साफ भी होता है|

3) बेसिन के पानी का सही इस्तेमाल

Washbasin connect with toilet flash

आपका वॉश बेसिन का पानी जिसमें आप सिर्फ हाथ धोते हैं वह पानी पूरी तरीके से वेस्ट हो जाता है अगर आपको इसका सही इस्तेमाल करना है तो आपको बस थोड़ी सी मेहनत करना होगा आप अपने वॉश बेसिन के नीचे लगे हुए पाइप को अपने टॉयलेट फ्लश टैंक से कनेक्ट कर सकते हैं|

इस आईडिया से आप काफी पानी बचा सकते हैं पहला तो आप टॉयलेट को फ्लैश करने के लिए साफ पानी का नहीं इस्तेमाल करेंगे और जो आप हाथ धुलने में वॉश बेसिन में पानी वेस्ट होता था अब उसका पूरी तरीके से उपयोग होगा|

4) कार धोना

Don't water for washing car
Credit- Coughlincars.com

आपने देखा होगा जब भी आप कार्य या बाइक की धुलाई करने जाते हैं तो कार और बाइक को धोने में कितना पानी वेस्ट होता है।

जब आपके देश में वाटर क्राइसिस चल रहा हो तो आप इतना पानी बिल्कुल भी वेस्ट नहीं कर सकते जो काम आप पानी से करते हैं वह गीले कपड़े से भी कर सकते हैं|

5) आप शावरकी बजाय बाल्टी से नहाना पसंद करें और बर्तन धोने के लिए एक बाल्टी में पानी भरकर शॉप मिलाकर उससे बर्तन धो लीजिये यह छोटी-छोटी चीजें आपका बहुत सा पानी बचा सकती हैं|

धन्यवाद!

यह भी पढ़ें-10 ऐसे फूड जो हमें फ्यूचर में खाने को नहीं मिलेंगे; क्लाइमेट चेंज के कारण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here