बृहस्पति के अनोखे तथ्य | Amazing facts about Jupiter in Hindi

1



हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारी वेबसाइट में जैसा कि आप सभी लोग जानते हो हम अपनी वेबसाइट पर बहुत इंटरेस्टिंग पोस्ट करते रहते हैं उसी तरह कि यह पोस्ट आप सभी के लिए बहुत ही ज्यादा इंटरेस्टिंग होने वाली है इस पूरी पोस्ट को आप अंत तक की पढ़ते रहिएगा आपको काफी ज्यादा मजा आने वाला है इस पोस्ट में  हम बात करेंगे सूरज की तरफ से पांचवा ग्रह जूपिटर जूपिटर जैसे हिंदी में में हम बृहस्पति के नाम से जानते हैं हमारे सोलर सिस्टम का सबसे बड़ा और बहुत ही अनोखा ग्रह है तो इस पोस्ट में मैं आपको जूपिटर से जुड़े बहुत इंटरेस्टिंग फैक्ट बताऊंगा जो जो आप सब जो आप सब लोग नहीं जानते होंगे …!!



बृहस्पति हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है इसकी रेडियस लगभग 59000 हज़ार 911 किलोमीटर है जो कि शहर शहर मंडल के दूसरे सबसे बड़े ग्रह शनि से 16000 किलोमीटर जाता है तो अगर हम अपने सबसे छोटे ग्रह पृथ्वी ग्रह पृथ्वी से तुलना करें तो लगभग 11 बार पृथ्वी को लाइन से से से रखने के बाद हम बृहस्पति के डायमीटर के बराबरी कर पाएंगे कर पाएंगे के बराबरी कर पाएंगे कर पाएंगे जुपिटर इतना बड़ा है|

कि शौर्य मंडल के लगभग सभी ग्रह के द्रव्यमान को अगर मिला दिया जाए फिर भी इन का द्रव्यमान उनसे ढाई गुना ज्यादा बढ़ा बढ़ा द्रव्यमान उनसे ढाई गुना ज्यादा बढ़ा बढ़ा ढाई गुना ज्यादा बढ़ा होगा इतना बड़ा होने के बाद अगर इसकी तुलना सूर्य से की जाए तो इसकी सारी दादागिरी निकल जाएगी क्योंकि यह सूर्य से इतना छोटा है कि सूरज के अंदर लगभग एक हजार बृहस्पति और और रखे जा सकते हैं बृहस्पति सूरत से लगभग 48 करोड़ 20 लाख किलोमीटर दूर है यानी पृथ्वी पृथ्वी की तुलना में बृहस्पति सूरज से लगभग 5 गुना सूरज से लगभग 5 गुना दूर है इतना दूर होने की वजह से लगभग सूरज का एक चक्कर पूरा करने में इसे 12 साल लग जाते हैं



जुपिटर  सौरमंडल का सबसे तेजी से घूमने वाला ग्रह है बृहस्पति अपने एक्सिस पर 45300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से घूमने वाला ग्रह है इसीलिए बृहस्पति पर एक दिन सिर्फ 9 घंटे 56 मिनट का होता है जो सौरमंडल के सभी ग्रहों में सबसे कम है|

बृहस्पति को गैस जायंट भी कहा जाता है क्योंकि बृहस्पति पर कोई ठोस जमीन नहीं है इसका एटमॉस्फेयर बादलों की कई परतों से बना हुआ है अलग-अलग एलिमेंट्स की केमिकल रिएक्शन की वजह से यह बादल रंग बिरंगे नजर आते हैं हमें जो बृहस्पति दिखाई देता है वह इसकी सतह नहीं है जबकि बादल और तूफान है यहां पर 90% हाइड्रोजन  10% हीलियम और कुछ मात्रा में मेथेन पानी और हवा भी पाई जाती  है बृहस्पति बहुत ही खतरनाक तूफानों से से भरा हुआ है दोस्तों आपने बृहस्पति की जितने भी तस्वीरें देखें बृहस्पति की जितने भी तस्वीरें देखें होंगी उसमें आपको एक बड़ी आग की तरह निशान दिखाई देता होगा इसे जुपिटर की आंख भी कहा जाता है यह एक बहुत ही बड़ा तूफान है जो पिछले साडे तीन सौ सालों से से चल रहा है इसका डायमीटर लगभग 24000 वर्ग मीटर है यह तूफान इतने बड़े एरिया में चल रहा है कि इसके अंदर दो या तीन पृथ्वी आराम से आ जाएंगी इस तूफान में 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही है|




बृहस्पति के एक दो दो नहीं बल्कि 67 चांद है जिन्हें अभी तक ढूंढा जा सका है आगे यह आंकड़ा बढ़ भी आंकड़ा बढ़ भी सकता है इनमें से ज्यादातर 10 किलोमीटर से भी से भी कम चौड़ाई के हैं बृहस्पति के चार बड़े चांद है जिन्हें गैलीलियन मून कहा जाता कहा जाता है क्योंकि यह Galiyo Gallaly ने ढूंढा था था इनके नाम है Aeio , Europa , Ganimat , Callisto इनमें से बृहस्पति का सबसे बड़ा चांद Gallymade है|

जो सौरमंडल का सबसे बड़ा चांद है इसका डायमीटर 5262 किलोमीटर है जो हमारे चांद से लगभग 2 गुना बड़ा है  यहां तक की मरकरी ग्रह से भी बड़ा है और अगर यह बृहस्पति के चक्कर में लगा रहा होता तो इसे आसानी से प्लेनेट होने का दर्जा मिल सकता था जूपिटर इतना बड़ा है कि पृथ्वी से जूपिटर को आसानी से बिना किसी की टेलीस्कोप के आसानी से देखा जा सकता है क्योंकि रात के आसमान में चांद और वीनस के बाद जूपिटर तीसरी सबसे चमकदार चीज है|

सबसे चमकदार चीज है है दोस्तों आपको हमारे सोलर सिस्टम के कौन-कौन से हमारे सोलर सिस्टम के कौन-कौन से सोलर सिस्टम के कौन-कौन से से ग्रह सबसे ज्यादा पसंद है हमें कमेंट करके जरूर बताइए अगर मुझसे पूछा जाए तो मुझे अर्थ और सैटर्न बहुत पसंद है सैटर्न का खूबसूरत रंग और उसका  टाइटल मुझे काफी पसंद है|



तो दोस्तों  आपको हमारी यह पोस्ट कैसी पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके और इस पोस्ट को ज्यादा ज्यादा लोगों तक शेयर करें और अगर आप हमारी लगातार पोस्ट पढ़ना चाहते हो तो आप हमारी वेबसाइट पर रेगुलर विजिट करके देख सकते हो आप हमारी वेबसाइट पर सभी प्रकार की पोस्ट देखने को मिल जाएंगी पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया बहुत शुक्रिया…!!






1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here